Two Line Shayari

Two Line Khamoshi Shayari

तेरी खामोशी, अगर तेरी मज़बूरी है,
तो रहने दे इश्क़ कौन सा जरुरी है।
Teri Khamoshi Agar Teri Majboori Hai,
To Rehne De Ishq Kaun Sa Jaroori Hai.

Teri Khamoshi Two Line Shayari

अगर एहसास बयां हो जाते लफ्जों से,
तो फिर कौन करता तारीफ खामोशियों की।
Agar Ehsaas Bayaan Ho Jaate Lafzon Se,
To Fir Kaun Karta Tareef Khamoshiyon Ki.

Advertisement

Short Two Line Shayari, Haisiyat Ko Ahmiyat

अहमियत यहाँ हैसियत को मिलती है,
हम है कि अपने जज्बात लिए फिरते हैं।
Ahmiyat Yahan Haisiyat Ko Milti Hai,
Hum Hain Ki Apne Jazbat Liye Firte Hain.

पसंद आ गए हैं कुछ लोगों को हम,
कुछ लोगों को ये बात पसंद नहीं आयी।
Pasand Aa Gaye Hain Kuchh Logon Ko Hum,
Kuchh Logon Ko Ye Baat Pasand Nahin Aayi.

Advertisement

Haathon Ki Lakeeron Mein

सुना है अब भी मेरे हाथ की लकीरों में,
नजूमियों को मुक़द्दर दिखाई देता है।
Suna Hai Ab Bhi Mere Haathon Ki Lakeeron Mein,
Najumiyon Ko Muqaddar Dikhayi Deta Hai.

Haathon Ki Lakeeron Mein Shayari Two Line

मौजों से खेलना तो सागर का शौक है,
लगती है कितनी चोट किनारों से पूछिये।
Maujon Se Khelna To Sagar Ka Shauk Hai,
Lagti Hai Kitni Chot Kinaro Se Pucchiye.

Two Liner Shayari, Khwaab Ki Tabeer

मैंने देखा है बहारों में चमन को जलते,
है कोई ख्वाब की ताबीर बताने वाला?

Maine Dekha Hai Bahaaro Mein Chaman Ko Jalte,
Hai Koi Khwaab Ki Tabeer Bataane Wala?

Advertisement

Faasle Rishton Mein Small Shayari

फासले इस कदर हैं आजकल रिश्तों में,
जैसे कोई घर खरीदा हो किश्तों में।
Faasle Iss Kadar Hain AajKal Rishton Mein,
Jaise Koi Ghar Khareeda Ho Kishton Mein.

खुद को भी कभी महसूस कर लिया करो,
कुछ रौनकें खुद से भी हुआ करती हैं।
Khud Ko Bhi Kabhi Mahsoos Kar Liya Karo,
Kuchh Raunakein Khud Se Bhi Hua Karti Hain.