Two Line Shayari

Shayari 2 Lines, Waqt Ki Taheni Par

उड़ जायेंगे तस्वीरों से रंगों की तरह हम,
वक़्त की टहनी पर हैं परिंदों की तरह हम।
Ud Jayenge Tasviron Se Rangon Ki Tarah Hum,
Waqt Ki Taheni Par Hain Parindo Ki Tarah Hum.

Waqt Ki Taheni Par Shayari Two Lines

सुलझा हुआ सा समझते हैं मुझको लोग,
उलझा हुआ सा मुझमें कोई दूसरा भी है।
Suljha Hua Sa Samjhate Hain Mujhko Log,
Uljha Hua Sa Mujh Mein Koi Doosra Bhi Hai.

Advertisement

Bahut Se Log The Mehmaan

बहुत से लोग थे मेहमान मेरे घर लेकिन,
वो जानता था कि है एहतमाम किसके लिए।
Bahut Se Log The Mehmaan Mere Ghar Lekin,
Wo Janta Tha Ki Hai Ehtmaam Kiske Liye.

वाकिफ था मेरी खाना-खराबी से वो शख्स,
जो मुझसे मेरे घर का पता पूछ रहा था।
Waqif Tha Meri Khana-Kharabi Se Wo Shakhs,
Jo Mujhse Mere Ghar Ka Pataa Poochh Raha Tha.

Advertisement

Wo Baazi Jeet Jata Hai Shayari

समझ पाता हूँ देर से मैं दांव-पेंच उसके,
वो बाजी जीत जाता है मेरे चालाक होने तक।
Samajh Pata Hoon Der Se Main Daaon-Pench Uske,
Wo Baazi Jeet Jata Hai Mere Chaalaak Hone Tak.

Woh Baazi Jeet Jata Hai Two Line Shayari

तुम राह में चुप-चाप खड़े हो तो गए हो,
किस-किस को बताओगे घर क्यों नहीं जाते।
Tum Raah Mein Chup-Chap Khade Ho To Gaye Ho,
Kis-Kis Ko Bataoge Ghar Kyun Nahi Jaate.

Raaste Kahan Khatm Hote Hain

रस्ते कहाँ खत्म होते हैं जिंदगी के सफर में,
मंज़िल तो वही है जहां ख्वाहिशें थम जाएँ।
Raaste Kahan Khatm Hote Hain Zindagi Ke Safar Mein,
Manzil To Wahi Hai Jahan Khwahishein Tham Jayein.

एक रास्ता ये भी है मंजिलों को पाने का,
सीख लो तुम भी हुनर हाँ में हाँ मिलाने का।
Ek Rasta Yeh Bhi Hai Manzilon Ko Paane Ka,
Seekh Lo Tum Bhi Hunar Haan Mein Haan Milane Ka.

Advertisement

Two Lines Shayari, Naam Badal Dena Mera

दौड़ में दौलत की तुम्हें जो भी मुक़ाम मिल जाये,
नाम बदल देना मेरा जो इत्मिनान मिल जाये।
Daud Mein Daulat Ki Tumhein Jo Bhi Mukaam Mil Jaye,
Naam Badal Dena Mera Jo Itminaan Mil Jaye.

जल के आशियाँ अपना ख़ाक हो चुका कब का,
आज तक ये आलम है रोशनी से डरते हैं।
Jal Ke Aashiyan Apna Khaak Ho Chuka Kab Ka,
Aaj Tak Ye Aalam Hai Roshni Se Darrte Hain.