Dard Bhari Shayari | दर्द भरी शायरी

Advertisement

Dard Mohabbat Ki Saza

रोने की सजा है न रुलाने की सजा है,
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सजा है,
हँसती हुई आँखों में आ जाते हैं आँसू,
ये उस शख्स से दिल लगाने की सजा है।

Rone Ki Saza Hai Na Rulaane Ki Saza Hai,
Ye Dard Mohabbat Ko Nibhane Ki Saza Hai,
Hansti Huyi Aankhon Mein Aa Jate Hain Aansoo,
Ye Uss Shakhs Se Dil Lagane Ki Saza Hai.

Dard Mohabbat Ki Saza - Dard Bhari Shayari

Advertisement

Tamaam Dard Mit Gaye

हर एक हसीन चेहरे में गुमान उसका था,
बसा न कोई दिल में ये मकान उसका था,
तमाम दर्द मिट गए मेरे दिल से लेकिन,
जो न मिट सका वो एक नाम उसका था।

Har Ek Haseen Chehre Mein Gumaan Uska Tha,
Basa Na Koi Dil Mein Ye Makaan Uska Tha,
Tamaam Dard Mit Gaye Mere Dil Se Lekin,
Jo Na Mit Saka Woh Ek Naam Uska Tha.

Advertisement

Duniya Ke Andhere Dard Bhari Shayari

रोशनी चाहूँ तो दुनिया के अँधेरे घेर लेते हैं
अगर कोई मेरी तरह जी ले तो जीना भूल जायेगा।
Roshni Chaahoon To Duniya Ke Andhere Gher Lete Hain,
Agar Koi Meri Tarah Jee Le To Jeena Bhool Jayega.

तुझसे पहले भी कई जख्म थे सीने में मगर,
अब के वह दर्द है दिल में कि रगें टूटती हैं।
Tujhse Pahle Bhi Kayi Zakhm The Seene Mein Magar,
Ab Ke Woh Dard Hai Ke Ragein TootTi Hain.

Advertisement

Two Line Dard Shayari, Dard Ehsaas Ko

आँखों में उमड़ आता है बादल बन कर,
दर्द एहसास को बंजर नहीं रहने देता।

Aankhon Mein Umad Aata Hai Baadal Ban Kar,
Dard Ehsaas Ko Banjar Nahi Rehne Deta.

Dard Shayari - Dard Aur Ehsaas

अब तुम न कर सकोगे मेरे दर्द का इलाज़,
ज़ख्म को नासूर हुए मुद्दतें गुजर गयीं।

Ab Tum Na Kar Sakoge Mere Dard Ka ilaaj,
Zakhm Ko Nasoor Huye Muddatein Gujar Gayi.

Advertisement

Dard Shayari, Dard Barha Deta Hai

ज़हर देता है कोई, तो कोई दवा देता है,
जो भी मिलता है मेरा दर्द बढ़ा देता है।
Zeher Deta Hai Koi, Toh Davaa Deta Hai,
Jo bhi Milta Hai Mera Dard Barha Deta Hai.

Painful Shayari - Dard Davaa Zeher

और भी कर देता है मेरे दर्द में इज़ाफ़ा,
तेरे रहते हुए गैरों का दिलासा देना।
Aur Bhi Kar Deta Hai Mere Dard Mein Izafa,
Tere Rahte Huye Ghairon Ka Dilaasa Dena.

1891011Next ›