Dhaakad Attitude, Gajab Ki Fitrat Hai Meri

Advertisement

अजीब सी आदत और
गज़ब की फितरत है मेरी,
मोहब्बत हो कि नफरत हो
बहुत शिद्दत से करता हूँ।
Ajeeb Si Aadat Aur
Gajab Ki Fitrat Hai Meri,
Mohabbat Ho Ke Nafrat Ho
Bahut Shiddat Se Karta Hoon.

ज़मीन पर रह कर आसमां छूने की
फितरत है मेरी,
पर गिरा कर किसी को
ऊपर उठने का शौक़ नहीं मुझे।
Zamin Par Reh Kar Aasmaan Chhune Ki
Fitrat Hai Meri,
Par Gira Kar Kisi Ko
Upar Uthane Ka Shauk Nahi Mujhe.

Advertisement

अपनी शख्शियत की क्या मिसाल दूँ यारों
ना जाने कितने मशहूर हो गये
मुझे बदनाम करते करते।
Apni Shakhsiyat Ki Kya Misaal Du Yaro
Na Jane Kitne MashHoor Ho Gaye
Mujhe Badnaam Karte Karte.

कोशिश यही रहती है
हमसे कभी कोई रूठे ना,
मगर नजरअंदाज करने वालों को
पलट कर हम भी नहीं देखते।
Koshish Yehi Rahti Hai
Humse Kabhi Koyi Ruthe Na,
Magar NazarAndaaz Karne Wale Ko
Palat Kar Hum Bhi Nahi Dekhte.

Advertisement

Mizaaj Mein Thodi Sakhti Lazimi Hai

Guroor Attitude Shayari, Todenge Guroor Ishq Ka

Advertisement

You may also like