Attitude Shayari Meri Saadgi

Advertisement

मेरी सादगी ही गुमनाम में रखती है मुझे,
जरा सा बिगड़ जाऊं तो मशहूर हो जाऊं।
Meri Saadgi Hi GumNaam Rakhti Hai Mujhe,
Jara Sa Bigad Jaaun To MashHoor Ho Jaaun.

सहारे ढूढ़ने की आदत नहीं हमारी,
हम अकेले पूरी महफ़िल के बराबर हैं।
Sahaare Dhhoondhne Ki Aadat Nahi Humari,
Hum Akele Poori Mehfil Ke Barabar Hain.

Advertisement

थोड़ी खुद्दारी भी लाजिमी थी दोस्तो,
उसने हाथ छुड़ाया तो हमने छोड़ दिया।
Thodi Khuddari Bhi Lajimi Thi Dosto,
Usne Haath Chhudaya To Humne Chhod Diya.

Advertisement

Gumaan Na Kar Apne Dimaag Par

Zidd Ko Anjaam Par Pahuncha Doon

Advertisement

You may also like