Sad Poetry for Lovers, Ab Aadat Nahi Rahi

सपनों से दिल लगाने की आदत नहीं रही,
हर वक्त मुस्कुराने की आदत नहीं रही,
ये सोच के कि कोई मनाने नहीं आएगा,
अब हमको रूठ जाने की आदत नहीं रही।
Sapno Se Dil Lagaane Ki Aadat Nahi Rahi,
Har Waqt Muskurane Ki Aadat Nahi Rahi,
Ye Soch Ke Ki Koi Manaane Nahi Aayega.
Ab Humko Roothh Jaane Ki Aadat Nahi Rahi.

प्यार का रस्ता इतना भी दुश्वार नहीं था,
बस तुमको हमारी चाहत पे ऐतबार नहीं था,
तुम ही चल न सके हमारे साथ वरना,
हमें तो जान देने से भी इन्कार नहीं था।
Pyar Ka Rasta Itna Bhi Dushwaar Nahi Tha,
Bas Tumko Humari Chaahat Pe Aitbar Nahi Tha,
Tum Hi Chal Na Sake Humaare Saath Varna,
Humein To Jaan Dene Se Bhi Inkar Nahi Tha.

रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है क्या चीज है मोहब्बत यारो,
घर जला कर किये हैं उजाले हमने।
Raaste Khud Hi Tabahi Ke Nikale Humne,
Kar Diya Dil Kisi Patthar Ke Hawale Humne,
Humein Maloom Hai Kya Cheej Hai Mohabbat Yaaro,
Ghar Jala Kar Kiye Hain Ujaale Humne.

Tum Badal Gaye Ho Sad Shayari

Main Shaam Ka Manzar Hota

You may also like