Sirf Paane Ka Naam Ishq Nahi

Advertisement

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,
झुकी हुयी निगाह को इकरार कहते हैं,
सिर्फ पाने का नाम ही इश्क नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं।
Dil Ki Aawaj Ko Ijhaar Kahte Hain,
Jhuki Huyi Nigaah Ko Ikraar Kahte Hain,
Sirf Paane Ka Naam Hi Ishq Nahi,
Kuchh Khone Ko Bhi Pyar Kehte Hain.

Advertisement

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है,
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है,
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो प्यार जीने की वजह बन जाता है।
Koyi Kehta Hai Pyar Nasha Ban Jata Hai,
Koyi Kehta Hai Pyar Saza Ban Jata Hai,
Par Pyar Karo Agar Sachche Dil Se,
To Pyar Jeene Ki Wajah Ban Jata Hai.

इश्क है वही जो हो एक तरफा,
इजहार-ए-इश्क तो ख्वाहिश बन जाती है,
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ,
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।
Ishq Hai Wohi Jo Ho Ek Tarafa,
Izhaar-e-Ishq To Khwahish Ban Jati Hai,
Hai Agar Ishq To Aankhon Mein Dikhao,
Jubaan Kholne Se Ye Numaish Ban Jati Hai.

Advertisement

Kambakht Mohabbat Hi Huyi

Uss Jagah Se Mohabbat

Advertisement

You may also like