Pyar-o-Ulfat, Wafa, Humdardi

प्यार-ओ-उल्फ़त, वफ़ा, हमदर्दी, मोहब्बत ये सब,
कौन हैं दुनिया में अब इन को निभाने वाले।
Pyar-o-Ulfat, Wafa, Humdardi, Mohabbat Ye Sab,
Kaun Hain Duniya Mein Ab InKo Nibhaane Wale.

Hindi Heart Touching Shayari Pyar-o-Ulfat

जिसको भी देखा रोते हुए पाया मैंने,
मुझे तो ये मोहब्बत किसी फ़कीर की बददुया लगती है।
Jisko Bhi Dekha Rote Huye Paya Maine,
Mujhe To Ye Mohabbat Kisi Faqir Ki Bad-Dua Lagti Hai.

बड़ा ही फर्क था तेरी और मेरी मोहब्बत में,
तूने सिर्फ आजमाया हमने सिर्फ यकीन किया।
Badaa Hi Farq Tha Teri Aur Meri Mohabbat Mein,
Tu Ne Sirf Aajmaya Humne Sirf Yakeen Kiya.

मोहब्बत नहीं है क़ैद मिलने या बिछड़ने की​,
ये इन खुदगर्ज़ लफ़्ज़ों से बहुत आगे की बात है।
Mohabbat Nahi Hai Qaid Milne Ya Bichhadne Ki,
Ye In Khudgarz Lafzo Se Bahut Aage Ki Baat Hain.

अधूरी मोहब्बत मिली तो नींदें भी रूठ गयी,
गुमनाम ज़िन्दगी थी तो सकून से सोया करते थे।
Adhoori Mohabbat Mili To Neendein Bhi Ruthh Gayin,
GumNaam Zindagi Thi To Sukoon Se Soya Karte The.

मोहब्बत यूँ ही किसी से हुआ नहीं करती,
वजूद भुलाना पड़ता है, किसी को चाहने के लिए।
Mohabbat Yoon Hi Kisi Se Hua Nahi Karti,
Wajood Bhulana Padta Hain Kisi Ko Chahne Ke Liye.

Mere Bina Wo Adhura Lagta Hai

Koi Qatil Jaroor Hota Hai

You may also like