Wo Rooh Mein Samaya Hai

Advertisement

दूर रहकर भी जो समाया है,
मेरी रूह की गहराई में,
पास वालों पर वो शख्स,
कितना असर रखता होगा।
Door Rahkar Bhi Jo Samaya Hai,
Meri Rooh Ke Gehrayi Mein,
Paas Walon Par Woh Shakhs,
Kitna Asar Rakhta Hoga.

रिवाज तो यही है दुनिया का
मिल जाना बिछड़ जाना,
तुम से ये कैसा रिश्ता है
न मिलते हो न बिछड़ते हो।
Riwaaj To Yahi Hai Duniya Ka
Mil Jana Bichhad Jana,
Tum Se Yeh Kaisa Rishta Hai
Na Milte Ho Na Bichadte Ho.

Advertisement

मेरी दास्ताँ का उरोज था
तेरी नर्म पलकों की छाँव में,
मेरे साथ था तुझे जागना
तेरी आँख कैसे झपक गयी।
Meri Daastan Ka Uroj Tha,
Teri Narm Palkon Ke Chhaon Mein,
Mere Saath Tha Tujhe Jaagna,
Teri Aankh Kaise Jhapak Gayi.

नफरतों के जहान में हमको
प्यार की बस्तियां बसानी हैं,
दूर रहना कोई कमाल नहीं,
पास आओ तो कोई बात बने।
Nafarato Ke Jahaan Mein Humko
Pyar Ki Bastiyan Basaani Hain,
Door Rehna Koyi Kamaal Nahi,
Paas Aao To Koyi Baat Bane.

Advertisement

Shayari Love Hindi, Badla Wafaon Ka

Love Shayari, Wahan Tak Chale Chalo

Advertisement

You may also like