Ek Shakhs Ne Rulaya Hai

Advertisement

इश्क़ मोहब्बत की बातें कोई न करना,
एक शख्स ने जी भर के हमें रुलाया जो है।
Ishq Mohabbat Ki Baatein Koi Na Karna,
Ek Shakhs Ne Jee Bhar Ke Humein Rulaya Jo Hai.

Advertisement

डूबी हैं मेरी उँगलियाँ खुद अपने लहू में,
ये काँच के टुकड़ों को उठाने के सज़ा है।
Doobi Hain Meri Ungliya Khud Apne Lahu Me,
Ye Kaanch Ke Tukdon Ko Uthane Ki Saza Hai.

बिखरी हुई वो ज़ुल्फ़ इशारों में कह गई,
मैं भी शरीक हूँ तेरे हाल-ए-तबाह में।
Bikhri Huyi Zulf Ishaaron Mein Kah Gayi,
Mein Bhi Shareek Hun Tere Haal-e-Tabaah Mein.

Advertisement

Naam Mitaya Na Gaya Very Sad

Barbaadi Sad Shayari in Hindi

Advertisement

You may also like