2 Line Romantic Shayari, Ruka Hua Hai Mausam

Advertisement

रुका हुआ है अज़ब धूप-छाँव का मौसम,
गुजर रहा है कोई दिल से बादलों की तरह।
Ruka Hua Hai Azab Dhoop-Chhanv Ka Mausam,
Gujar Raha Hai Koi Dil Se Baadalon Ki Tarah.

की है कोई हसीन खता हर खता के साथ,
थोड़ा सा प्यार भी मुझे दे दो सज़ा के साथ।
Kee Hai Koi Haseen Khata Har Khata Ke Saath,
Thoda Sa Pyar Bhi Mujhe De Do Saza Ke Saath.

Advertisement

मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा,
मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना।
Main Waqt Ban Jaaun Tu Bann Jaana Koi Lamha,
Main Tujhme Gujar Jaaun Tu Mujhme Gujar Jana.

ना समेट सकोगे क़यामत तक जिसे तुम,
कसम तुम्हारी तुम्हें इतना प्यार करते हैं।
Na Samet Sakoge Qayamat Tak Jise Tum,
Kasam Tumhari Tumhein Itna Pyar Karte Hain.

Advertisement

Romantic Shayari, Sirf Tera Sath

Advertisement

You may also like